Proud Indian…

image

Advertisements

Author: itsmeharshi

Common girl trying to pen down her experience with life.....

12 thoughts on “Proud Indian…”

  1. लबरेज़ है शराबे-हक़ीक़त से जामे-हिन्द ।
    सब फ़ल्सफ़ी हैं खित्ता-ए-मग़रिब के रामे हिन्द ।।
    ये हिन्दियों के फिक्रे-फ़लक उसका है असर,
    रिफ़अत में आस्माँ से भी ऊँचा है बामे-हिन्द ।
    इस देश में हुए हैं हज़ारों मलक सरिश्त,
    मशहूर जिसके दम से है दुनिया में नामे-हिन्द ।
    है राम के वजूद पे हिन्दोस्ताँ को नाज़,
    अहले-नज़र समझते हैं उसको इमामे-हिन्द ।
    एजाज़ इस चिराग़े-हिदायत का है ,
    यहीरोशन तिराज़ सहर ज़माने में शामे-हिन्द ।
    तलवार का धनी था, शुजाअत में फ़र्द था,
    पाकीज़गी में, जोशे-मुहब्बत में फ़र्द था ।
    :- Sir Mohammed Iqbal

    शब्दार्थ :लबरेज़ है शराबे-हक़ीक़त से जामे-हिन्द । सब फ़ल्सफ़ी हैं खित्ता-ए-मग़रिब के रामे हिन्द ।।= हिन्द का प्याला सत्य की मदिरा से छलक रहा है। पूरब के सभी महान चिंतक इहंद के राम हैं; फिक्रे-फ़लक=महान चिंतन; रिफ़अत=ऊँचाई; बामे-हिन्द=हिन्दी का गौरव या ज्ञान; मलक=देवता; सरिश्त=ऊँचे आसन पर; एजाज़=चमत्कार; चिराग़े-हिदायत=ज्ञान का दीपक; सहर=भरपूर रोशनी वाला सवेरा; शुजाअत=वीरता; फ़र्द=एकमात्र, अद्वितीय; पाकीज़गी= पवित्रता

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s